यूखरिस्तीय प्रार्थना - 7

(बच्चों के लिए – 3)

(This prayer is chiefly suitable for Masses with young people. It has special prayers for the Easter Season)

Preface :

C: प्रभु आप लोगों के साथ हो।

सब:और आप के साथ भी।

C: प्रभु में मन लगाइए।

सब:हम प्रभु में मन लगाए हुए हैं।

C: हम अपने प्रभु ईश्वर को धन्यवाद दें।

सब:यह उचित और आवश्यक है।

C: हे पिता, तुझे धन्यवाद। तूने हमें बुलाया कि हम तेरे लिए जीवन बिताएँ। तेरी ही कृपा से हम मिल-जुल कर रहते और सुख-दुःख में एक दूसरे का साथ देते हैं।


During the Easter Season only:

c: तू जीवितों का ईश्वर है, इसलिए तूने हमें जीवन के लिए बनाया और स्वर्ग का अनंत सुख प्रदान करना चाहता है। तूने येसु को मृतकों में से सर्वप्रथम जिलाकर उन्हें नया जीवन प्रदान किया, और हमें भी पुनर्जीवित कर अनंत जीवन प्रदान करना चाहता है, जहाँ किसी प्रकार का दुःख-संकट नहीं होगा।


cc: इसलिए, हे पिता, हम सब बड़े आनंद के साथ तेरा धन्यवाद करते हैं और सभी विश्वासीगण, संतों और दूतों के संग तेरा स्तुतिगान करते हैं -

Sanctus:

सब:पवित्र, पवित्र, पवित्र! प्रभु विश्वमण्डल के ईश्वर! स्वर्ग और पृथ्वी तेरी महिमा से परिपूर्ण हैं। स्वर्ग में प्रभु की जय! धन्य हैं वे जो प्रभु के नाम पर आते हैं। स्वर्ग में प्रभु की जय!

The priest, with hands extended, says:

cc: हे प्रभु, तू वास्तव में पवित्र और अत्यंत भला ईश्वर है। तू सभी मनुष्यों की भलाई करता है। हम तुझे विशेष धन्यवाद देते हैं क्योंकि जब हम तुझ से दूर भटक गए थे और हमारे बीच बैर-भाव तथा फूट उत्पन्न हो गई थी, तब तूने अपने पुत्र को हमारे पास भेजा। उन्होंने पवित्र आत्मा के प्रभाव से हमारी आत्मा की आँखें और कान खोल दिए, तथा हमारा दिल बदल डाला कि हम तुझे अपना पिता और अपने को तेरे पुत्र-पुत्रियाँ समझ कर आपस में प्रेम भाव रखें


During the Easter Season only:

cc: येसु ने हमें अनंत जीवन का संदेश सुनाया और उसे प्राप्त करने के लिए प्रेम-मार्ग दिखाया। इस मार्ग पर सब से आगे चलकर येसु ने हमें उदाहरण दिया है। उन्हीं प्रभु येसु ने हमें वेदी के पास एकत्र किया है कि जिस संस्कार का समारोह उन्होंने मनाया था, उसे आज हम भी मनाएँ।


The priest joins his hands and, holding outstretched over the offerings, says:

cc: इसलिए, हे अत्यंत भले पिता, इस रोटी और दाखरस पर कृपापूर्वक आशिष दे

He joins his hands and, making the sign of the cross over both bread and chalice, says:

cc: कि ये हमारे लिए प्रभु येसु का शरीर + और रक्त बन जाएँ।

Narrative of the institution:

cc: अपने दुःखभोग के एक दिन पहले संध्या की बेला में, अपने शिष्यों के साथ भोजन करते समय

He takes the bread and, raising it a little above the altar, says:

cc: येसु ने रोटी ली, तुझे धन्यवाद दिया और रोटी तोड़कर उसे अपने शिष्यों को देते हुए कहा-

He bows slightly:

cc: तुम सब इसे लो और खाओ - यह मेरा शरीर है, जो तुम्हारे लिए बलि चढ़ाया जाएगा।

He shows the consecrated Host to the congregation places it on the paten and genuflects. Then he takes the chalice and says:

cc: इसी भाँति येसु ने दाखरस भरा कटोरा लिया, तुझे धन्यवाद दिया और उसे अपने शिष्यों को देते हुए कहा- तुम सब इसे लो और पीओ, यह मेरे रक्त का कटोरा है, नवीन और अनन्त व्यवस्थान का रक्त, जो तुम्हारे और सबों के पापों की क्षमा के लिए बहाया जाएगा। तुम मेरी स्मृति में यह किया करो।

He shows the chalice to the faithful places it on the altar and genuflects. Then he says:

C: यह है हमारे विश्वास का रहस्य।

The faithful respond:

सब:हे प्रभु, हम तेरी मृत्यु और पुनरुत्थान की घोषणा तेरे पुनरागमन तक करते रहेंगे।

The priest, with hands extended, continues:

cc: इसलिए, हे पवित्र पिता, प्रभु येसु ने हमारी मुक्ति के लिए जो कुछ किया उसे हम बड़े आनन्द से याद कर रहे हैं। उन्होंने यह बलिदान, जो उनकी मृत्यु और पुनरुत्थान का स्मारक है, अपनी कलीसिया को सौंप दिया है। हे स्वर्ग में विराजमान पिता, हमारा निवेदन है कि तू हम सबों को अपने प्रिय पुत्र येसु के साथ, पुत्र-पुत्रियों के रूप में ग्रहण करे। वे हमारे लिए अपनी ही इच्छा से क्रूस पर मर गए और तूने उनको मृतकों में से जिला दिया। इसके लिए हम तेरा गुणगान करते हैं।

The faithful exclaim:

सब:धन्यवाद, हे भले प्रभु! तेरी जय हो सदा-सदा।

The priest continues:

c: हमारे प्रभु येसु जीवित हैं और स्वर्ग में तेरे संग विराजमान होकर हमारे बीच सदा उपस्थित रहते हैं।

The faithful exclaim:

सब:धन्यवाद, हे भले प्रभु! तेरी जय हो सदा-सदा।

The priest continues:

c: प्रभु येसु इस संसार के अंत में महिमा के साथ पधारेंगे; तब उनके राज्य में कहीं भी दुःख या शोक नहीं होगा।

The faithful exclaim:

सब:धन्यवाद, हे भले प्रभु! तेरी जय हो सदा-सदा।

The priest continues:

c: हे पिता, तूने हमें यहाँ बुलाया है कि हमारा हृदय पवित्र आत्मा के आनंद से भर जाए, और हम इस वेदी से ख्रीस्त का शरीर तथा रक्त ग्रहण करें। हमें कृपा दे कि इस संस्कार के प्रभाव से हम प्रभु येसु के समान जीएँ और सदा तुझे प्रसन्न करें। हे प्रभु, हमारे संत पिता..............., हमारे धर्माध्यक्ष.................. और सभी धर्माध्यक्षों की सहायता करने की कृपा कर। हम सबों की तथा ख्रीस्त के सभी भक्तों की भी सहायता कर कि हम ख्रीस्त की शांति, मेल-मिलाप और आनन्द सर्वत्र फैलाएँ।


During the Easter Season only:

c: ख्रीस्तीयों के हृदय में पास्का का आनन्द भर दे। उन्हें ऐसी कृपा दे कि वे इस आनन्द का संचार उन हृदयों में कर सकें जो शोक से परिपूर्ण है।


c: हम सब को ऐसी कृपा दे कि हम एक दिन तेरे पास स्वर्ग में पहुँच सकें। वहाँ हम ईश्वर की माता धन्य कुँवारी मरियम तथा सभी संतो के साथ अपने प्रभु येसु से सदा संयुक्त रहेंगे।

The priest joins his hands, takes the chalice and the paten with the Host and, lifting them up sings or says:

cc: इन्हीं प्रभु ख्रीस्त के द्वारा, इन्हीं के साथ और इन्हीं में, हे सर्वशक्तिमान पिता ईश्वर, पवित्र आत्मा के साथ, तुझे समादर तथा महिमा युगानुयुग मिलती रहती है।

सब:आमेन।

Go to Communion Rite (परम प्रसाद की विधि)