जनवरी 02

सन्त बासिल

अरियस अपसिध्दान्त (Arian Heresy) के विरुद्ध बाइज़ेन्टीनी कलीसिया की लडाई में जीत का श्रेय बासिल महान को दिया जाता है। सन्‍ 381- 82 की कोनस्तंतीनोपल की महासभा में अरियस अपसिध्दान्त की निन्दा तथा कैथलिक धर्मशिक्षा की प्रामाणिकता के समर्थन में बासिल महान का बहुत बडा हाथ था। बासिल ने अकाल और सूखे से पीडित लोगों के लिए हर प्रकार की सहायता की वकालत की, पुरोहितों के पवित्र जीवन पर जोर दिया, और हर बुराई का खुल कर सामना किया। उन्होंने पवित्रता तथा अनुशासन का जीवन बिताया।


Copyright © www.jayesu.com
Praise the Lord!