संत अन्द्रयस, प्रेरित

नवंबर 30

संत अन्द्रयस उन प्रेरितों में से एक है जो अपनी उपस्थिति को सुसमाचार में प्रकट करते हैं। पूर्वी परंपरा में अन्द्रयस को 'सब से पहले बुलाये जाने वाले' के रूप में जाना जाता है। योहन 1: 35-42 के अनुसार, अन्द्रयस पहले योहन बपतिस्ता के शिष्य थे। योहन बपतिस्ता ने येसु को 'ईश्वर के मेमने' के रूप में उनसे परिचित कराया। फिर अन्द्रयस ने येसु का अनुसरण किया और येसु को मसीह के रूप में पहचानने के बाद, वे अपने भाई पेत्रुस को येसु के पास ले आये। वास्तव में, अन्द्रयस को लोगों को येसु के पास लाने का करिश्मा है। वे उस बालक को येसु के पास ले आये जिसके पास पाँच रोटियों और दो मछलियाँ थीं (देखें योहन 6: 8-9)। इसी अन्द्रयस की मदद से ही त्योहार पर येरूसालेम आने वाले यूनानी लोग येसु से मिल पाते हैं। परंपरा के अनुसार अन्द्रयस ने ग्रीस और तुर्की में सुसमाचार का प्रचार किया और पैट्रास में क्रूस पर चढ़ाया गया।


Copyright © www.jayesu.com
Praise the Lord!