Fifth Sunday of Lent

Jeremiah 31:31-34; Hebrews 5:7-9; John 12:20-33

Bro. Raja Mohan




logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo logo Bible Android Bible


प्रभु की जय!

आल्लेलूय़ा!

परमेश्वर को धन्यवाद!
प्रभु तू ही पावन है!

पिता इश्वर की स्तुति हो!

प्रभु दया कर!

प्रभु मेरा चरवाहा है!
मुझे किसी बात की कमी नहीं।